Matdarshan latest posts and news

रजरप्पा मंदिर खोलने की मांग, जोर शोर से , 15 सितम्बर तक का अल्टीमेटम झारखण्ड सरकार को ,16 सितम्बर को बंद करने का एलान|

Ravindra



झारखंड में मंदिरों को श्रद्धालुओं के लिए खोलने की मांग जारी है, देवघर के बाद रजरप्पा मंदिर के पुजारियों, स्थानीय दुकानदारों और बीजेपी ने 15 सितंबर तक मंदिर खोलने को लेकर राज्य सरकार से मांग की है|

 लॉक डाउन में रजरप्पा मंदिर

लॉक डाउन  के करण झारखण्ड के सभी धार्मिक स्थल पूरी तरह से बंद है इसलिए  रजरप्पा छिन्मस्तिके मंदिर भी बंद पड़ा है,यहाँ के हजारों दुकानदार और अनेक कामगारों जिनका रोजी रोटी यहाँ से होता था,उनका रोजी रोटी में भी समस्याएँ उत्पन्न हो गयी है,रजरप्पा मंदिर का लॉक डाउन 4 अप्रैल 2021 से अभी तक है,


  रजरप्पा मंदिर की खोलने की मांग |

रजरप्पा मंदिर बंद होने के कारण लोगों में संकट मंडरा रहा है,अब सरकार जब हर चीजों में राहत दे रही है,तो धार्मिक स्थल में क्यों नहीं? रजरप्पा छिन्मस्तिके मंदिर करोड़ो लोगों की स्था  है सरकार मंदिर खोलने की आदेश नहीं दे रहे है, इसलिए लोगों में 15 अगस्त 2021 को मंदिर खोलने का जुलुस निकला गया था अब सरकार  का आदेश है की मंदिर जल्द खुलेंगे |  

 

लॉक डाउन में रजरप्पा का महौल 

रजरप्पा माँ छिन्मस्तिके मंदिर बंद है लेकिन फिर भी कई श्रधालुओं दूर-दूर से यहाँ पूजा करने के लिए आते है,श्रधालुओं का मंदिर में प्रवेश निषेद्य होने के कारण वे लोग मंदिर के बाहर पूजा करते हैं पूजा भण्डार, होटल रेस्टूरेंट बोटिंग और अन्य दुकाने भी खुलेतें हैं|   


 रजरप्पा मंदिर के पुजारियों, स्थानीय दुकानदारों और बीजेपी ने 15 सितंबर तक मंदिर खोलने को लेकर राज्य सरकार से  मांग 

बीजेपी नेता राजीव जायसवाल रजरप्पा में  पहुंच कर इस सन्दर्भ में स्थानीय पंडा समाज और दुकानदारों के साथ विचार विमर्श की. इस दौरान उन्होंने कहा, अगर 15 सितंबर तक झारखंड सरकार रजरप्पा  मंदिरों को खोलने का आदेश नहीं देती है, तो 16 सितंबर को रजरप्पा बंद किया जाएगा.बता दें की रजरप्पा  मंदिर खोलने की मांग को लेकर लगातार आंदोलन किया जा रहा है. कोरोना की वजह से राज्य सरकार ने मंदिरों में  श्रद्धालुओं के प्रवेश पर प्रतिबंध कर दिया है। जिसकी वजह से मंदिर से जुड़े पुजारियों और व्यवसायियों की जिंदगी पर बुरी असर पड़ा  है. 

रजरप्पा  छिन्नमस्तिका मंदिर से ना सिर्फ लाखों लोगों की आस्था जुड़ी हुई है बल्कि मंदिर से जुड़े हज़ारों परिवारों का जीवनयापन होता है, लेकिन पिछले कई महीनों से मंदिर बंद होने के कारण इन लोगों की स्थिति काफी दयनीय हो गई है. ऐसे में जल्द से जल्द मंदिर खोलने की मांग की जा रही।

बीजेपी भी लगातार इस मामले को लेकर राज्य सरकार को घेर रही है. बीजेपी नेता राजीव जायसवाल  ने पिछ्ले दिनों हुई राज्य आपदा प्रबंधन की बैठक को लेकर उम्मीद थी कि मंदिर खोलने का आदेश दिया जाएगा, लेकिन सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के जजमेंट का हवाला देते हुए फैसला टाल दिया.

राजीव जायसवाल ने कहा कि जब राज्य में बियर बार, सिनेमा हॉल, पार्क समेत सभी तरह की गतिविधियां फिर से शुरू की जा सकती हैं, तो झारखंड सरकार को मंदिर खोलने में आपत्ति क्यों है. उन्होंने इसे हिंदुओं की आस्था के साथ खिलवाड़ बताया.

 छिन्नमस्तिका मंदिर से जुड़े पंडा समाज, दुकानदारों, नाई, नाविकों ने झारखंड सरकार के खिलाफ नाराजगी जाहिर करते हुए 15 सितंबर तक समय दिया है, और ऐसा ना होने पर सभी ने स्वेच्छा से विरोधस्वरूप 16 सितंबर को सामूहिक रुप से बंद की घोषणा की है|


..

Comments:-

Leave a Comment:
Search
Categories